चिकित्सको का कानून भाग -2

law book

इस पुस्तक में अन्य राज्यों से व बिहार आयुर्वेदिक यूनानी  चिकित्सा परिषद पटनाबिहार से पंजीकृत व सूचीकृत  चिकित्सक देश में कही  भी प्रक्टिस कर  सकते है ! इसबारे में अनेक न्यायालयों द्वारा दिए फैसलों का हिंदी अनुवाद कर  प्रकाशित किया गयाहै ! एक राज्य से पंजीकृत होकर दुसरे राज्यों में चिकित्सा कार्य करने वाले चिकित्सको हेतु अत्यंत महत्वपूर्ण पुस्तक है ! बिहार से पंजीकृत / सूचीकृत के अंग्रेजी दवाये प्रयोगके अधिकार से सम्बन्धित महत्वपूर्ण निर्णय इस पुस्तक में दिए गये है !

—— इस पुस्तक में दिए गये महत्वपूर्ण निर्णय—–

  1. बिहार के प्रमाणपत्रधारी अन्य राज्यों में भी एलोपैथिक दवाओं मेंप्रैक्टिस केअधिकारी: अति. सत्र न्यायधीश
  2. दवा विक्रेताओं की जांच के मामले में पुलिस हस्तक्षेप नहीं कर सकती, पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट का महत्वपूर्ण फैसला
  3. बिना सबूत चिकित्सक बरी
  4. बिहार से प्रमाणपत्रधारी 7 चिकित्सक एक साथ बरी
  5. माननीय पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय, चण्डीगढ़ का महत्वपूर्णफैसला
  6. हिन्दी साहित्य सम्मेलन के वैद्य विशारद, आयुर्वेद रत्न उपाधि की मान्यता केमामले की पुनःसुनवाई हाईकोर्ट को करने  के निर्देश: मा॰ सुप्रीम कोर्ट का फैसला
  7. बिहार का पंजीकृत अन्य राज्यों में भी प्रैक्टिस का अधिकारी सरकार की याचिकाखारिज: मा॰ पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट का महत्वपूर्ण निर्णय
  8. अन्य राज्यों से पंजीकृत की प्रैक्टिस में हिमाचल सरकार नहीं करेगी रोक-टोक:मा॰ हिमाचल हाईकोर्ट का मामला
  9. राजस्थान बोर्ड से पंजीकृत व हरियाणा बोर्ड में फीस भरने वाला चिकित्सकहरियाणा में प्रैक्टिस का अधिकारी निचली अदालत का आदेश रद्द: अतिरिक्त  सत्रन्यायाधीश रेवाड़ी का निर्णय
  10. बिहार का प्रमाणपत्रधारी आयुर्वेदिक व एलोपैथिक दवाएं मरीजों को दे सकता है वअपने पास रख सकता है: न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी गुड़गांव का फैसला
  11. बिल के साथ खरीद/बेची दवा नकली पाए जाने पर भी दवा विक्रेता दोषी नहीं
  12. ड्रग इंस्पेक्टर द्वारा कार से बरामद दवाओं को दवा विक्रेता को वापिस की जाए
  13. न्यायालय श्री शाम लाल, पी.सी.एस., उप मंडलीय न्यायिक दण्डाधिकारी,सरदूलगढ़
  14. इलैक्ट्रोपैथी से संबंधित महत्वपूर्ण निर्णय
  15. बिल के साथ खरीदी गई दवा जांच में नकली पाए जाने पर दवा विक्रेता दोषी नहीं
  16. सरकार की याचिका खारिज, बिहार का पंजीकृत अंग्रेजी दवाओं में प्रैक्टिस काअधिकारी: सत्र न्यायालय बठिण्डा का निर्णय
  17. बिहार से पंजीकृत हरियाणा में एलोपैथिक दवाओं से प्रैक्टिस का अधिकारी: मा॰पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट
  18. केवल दवाएं रखने से ही दोषी नहीं, चिकित्सक बरी
  19. अनरजिस्टर्ड चिकित्सक भी बन सकते हैं प्रैक्टिस बशर्ते
  20. राजकीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी चिकित्सा परिषद पटना से पंजीकृत चिकित्सकझोलाछाप नहीं
  21. आयुर्वेदिक चिकित्सक एलोपैथिक चिकित्सा करने का भी अधिकारी
  22. सन् 1989 से पहले उत्तीर्ण वैद्य विशारद/आयुर्वेद रत्न उपाधिकारी के म.प्र. मेंरजिस्ट्रेशन हेतु आदेश
  23. बिहार बोर्ड से रजिस्टर्ड आयुर्वेदिक चिकित्सक धारा 420 से मुक्त
  24. बिहार (पटना) से रजिस्टर्ड चिकित्सकों की प्रैक्टिस में बाधा न डालें
  25. बिहार से रजिस्टर्ड चिकित्सक धारा 420 से मुक्त
  26. आयुर्वेदिक चिकित्सक एलोपैथिक चिकित्सा करने के अधिकारी
  27. आयुर्वेदिक चिकित्सक एलोपैथिक दवाएं प्रयोग के अधिकारी (सुप्रीम कोर्ट आफइंडिया)
  28. जुडीशियल मजिस्ट्रेट रोपड़ (पंजाब) का निर्णय
  29. जब एक व्यक्ति किसी भी प्रांत में नामांकित या पंजीकृत हो जाए तो वह स्वयं देशके किसी भी भाग में चिकित्सा कार्य कर सकता है !
  30. बिहार प्रांत से रजिस्टर्ड वैद्य ने जिला मंडी हिमाचल प्रदेश में बिना लाइसेंस केएलोपैथिक औषधियों का प्रयोग करने तथा बेचने में कोई अपराध नहीं किया
  31. भारत के किसी भी प्रांत का रजिस्टर्ड वैद्य संपूर्ण भारत में रजिस्टर्ड मेडिकलप्रैक्टिश्नर माना जाएगा
  32. रजिस्टर्ड वैद्य एलोपैथिक औषधियां रख सकते हैं, किंतु बेच नहीं सकते
  33. मार्डन पैथी से आधुनिक उपकरण रखकर भी वैद्य चिकित्सा कार्य कर सकता है
  34. इलक्ट्रोपैथी पद्धति के चिकित्सक बेरोकटोक चिकित्सा कार्य करते रहेंगे
  35. बिहार से रजिस्टर्ड हरियाणा में चिकित्सा कार्य कर सकता है
  36. इलक्ट्रोपैथी इंस्टीट्यूट अपना कार्य करते रहेंगे
  37. सीएमएस डिप्लोमा से संबंधित महत्वपूर्ण निर्णय
  38. लापरवाही से हुई मौत पर चिकित्सक दोषी नहीं
  39. बिहार से रजिस्ट्रेशन संबंधी नियम
  40. औषधि एवं चमत्कारिक उपचार अधिनियम 1954
  41. रक्त प्रदाता के मापदण्ड
  42. हरियाणा सरकार द्वारा विधानसभा में पारित हरियाणा स्वास्थ्य कर्मकार विधेयक2004 के अनुरूप रजिस्ट्रेशन हेतु बोर्ड के गठन, योग्यता, सदस्यों आदि की प्रक्रिया काविवरण
  43. एक राज्य का रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशर दूसरे राज्य में चिकित्सा व्यवसाय करसकता है
  44. हरियाणा सरकार की याचिका रद्द
  45. वैद्यविशारद/आयुर्वेदरत्न उपाधिकारी एलोपैथिक दवाओं से चिकित्सा कर सकते हैं
  46. रजिस्ट्रेशन हेतु सशुल्क आवेदन जमा हैं वे भी चिकित्सा कार्य करने के अधिकारी
  47. बिना स्वतंत्र गवाह के बरामद दवा मामले में चिकित्सक बरी

406 पेज वाली इस पुस्तक की कीमत  300/-  रु व् (50 रु डाक खर्च अलग होगा )!

 इस पुस्तक को अपने पते पर मंगवाने के लिए हमे आज ही फोन करे या पत्र लिखे !

                         HEALTH TODAY (हैल्थ टुडे)

    10, Bindal Dharamshala Market,Bazar Vakilan,Inside Nagori Gate Hisar,Haryana

    Phone- 09812058674,  09254358674, 01662-283072

click here for full detail..

rmp registration bihar patna ayurved ratan rmp course rmp degree rmp registration bihar rmp registration up what is rmp rmp doctor rajkiya ayurvedic and unani chikitsa parishad phone number rmp diploma ayurvedic course registered medical practitioner course certificate board . 

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s